हनुमान चालीसा का पाठ करते वक़्त रखें इन बातों का ख़ास ख्याल

हिन्दू धर्मशास्त्र में हनुमान जी को एक हर्फल्मौला भगवान के रूप में दिखाया गया है जो हर मुसीबत में अपने भक्तों की सहायता करते हैं. इंसान अपने जीवन में चल रही मुसीबतों से बाहर निकलने के लिए हनुमान जी की पूजा अर्चना के साथ ही हनुमान चालीसा का जाप भी करते हैं. लेकिन आपको बता दें की हनुमाना चालीसा का जाप करते वक़्त कुछ ऐसी भी बातें हैं जिसका विशेष रूप से ख्याल रखने की आवश्यकता है. आज इस पोस्ट के जरिये में हम आपको कुछ ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका ख्याल विशेष रूप से हनुमान चलीसा का पाठ करते वक़्त जरूर रखना चहिये.

अक्सर ऐसा देखा जाता है की लोग हनुमान चलीसा का पाठ कभी भी करना शुरू कर देते हैं लेकिन आपको बता दें की ऐसा करना बिल्कुल भी आपकी हित में नहीं होता है. बता दें की हनुमान चालीसा का पाठ करने से पहले हमेशा अच्छी तरह से नहा धोकर ही पाठ के लिए बैठना चहिये अगर बिना नहाये हनुमान जी का पाठ किया जाता है तो इसका फल अच्छा नहीं होता है और हनुमान जी क्रोधित होते हैं. इसके आलवा आपको बता दें की जब भी हनुमान जी की पूजा अर्चना की जा रही हो तो उस दौरान हनुमान चलीसा का भी पाठ जरूर करें और साथ ही प्रसाद के रूप में बूंदी, चना या गुड़ का प्रसाद निश्चित रूप से चढ़ाएं. गौरतलब है की हनुमाना जी की पूजा अर्चना करते वक़्त इस बात का भी ख़ास ख्याल रखें की हनुमान जी को सिन्दूर जरूर चढ़ाएं और हमेशा ही लाल फूल से ही हनुमना जी की पूजा अर्चना करें. इसके साथ साथ आप चाहे तो पूजा के वक़्त हनुमान जी को जनेऊ भी चढ़ा सकते हैं. हनुमान जी को सभी कष्टों का निवारण करने वाले देवता के रूप में देखा जाता है, बुरी शक्तियों के प्रभाव से बहाने में भी हनुमान जी बेहद सहायक साबित होते हैं.

इसके अलावा हनुमाना जी की पूजा अर्चना के वक़्त जिन बातों का ख़ास ख्याल रखना चहिये वो है की कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो हनुमान चलीसा का पाठ शुरू तो करते हैं लेकिन उसे बीच में ही छोर देते हैं. बता दें की एक बार यदि आप हनुमान चालीसा का पाठ शुरू करते हैं तो फिर इसे कम से कम चालीस दिनों तक रोजाना पाठ करना चहिये. सबही भगवानों में सबसे मस्त मौला भगवान हनुमान जी को ही माना जाता है इसलिए इनकी पूजा अर्चना लोग जरूर करते हैं. आपको बता दें की हफ्ते में दो दिन ऐसे होते हैं जसे हनुमान जी का दिन माना जाता है और वो दो दिन है मंगलवार और शनिवार. अब आपको बता दें की इन दो दिनों में से यदि किसी एक दिन भी आपने हनुमान चालीसा का पाठ किया तो इसका विएश लाभ मिलता है और मंगलवार के दिन ख़ास तौर से हनुमान जी का व्रत रखने वाले लोगों को ख़ास लाभ मिलता है क्यूंकि इस दिन जो लोग हनुमान जी की पूजा अर्चना करते हैं उनपर हनुमाना जी की ख़ास कृपा दृष्टी होती है.