महज बीस दिन की पहचान के बाद इस लड़की ने अपना लीवर कर दिया दान

आजकल की दुनिया में जहाँ हर किसी को सिर्फ अपने आप से मतलब है ऐसे में अगर देखा जाए तो ये बात सुनने में बेहद हैरान करने वाले है की आखिर कोई कैसे किसी से महज बीस दिन की ही पहचान में ही अपना लीवर दान कर सकता है. आज हम आपको इस पोस्ट के जरिये एक ऐसी लड़की की कहानी बताने जा रहे हैं जिसने सिर्फ बीस दिन की पहचान के बाद ही एक बच्ची को अपना लीवर देने का फैसला कर लिया. आईये आपको बताते हैं की आखिर क्या है ये पूरा मामला और क्यूँ इस लड़की ने अपना लीवर दान कर दिया.

इस बात से तो अमूमन आजकल सभी लोग इत्तेफाक रखते हैं की जहाँ आज सगे अपनों की मदद के लिए आगे नहीं आते हैं वहीँ दूसरी तरफ इस लड़की ने इतने कम समय की पहचान के बाद ही किसी को अपना लीवर दे दिया तो इससे बड़ी बात और कुछ नहीं हो सकती है. आपको बता दें की अमेरिका के न्यूजर्सी की रहने वाली एक 22 साल की लड़की काय्रास्तैक ने अपना लीवर एक 16 महीने की बच्ची को दान कर दिया. गौरतलब है की कायरा ने जिस बच्ची को अपना लीवर दिया उससे उसकी पहचान सिर्फ कुछ दिनों की थी. बता दें की कायरा अमेरिका के न्यूजर्सी में एक स्टूडेंट है लेकिन उसके पास अपने कॉलेज की फीस देने के लिए पैसे नहीं थे लिहाजा पिछले कुछ महीनों से वो किसी पार्ट टाइम जॉब की तलाश में थी. आपको बता दें की कायरा ने न्यूजर्सी के ही एक रोस्को परिवार में उनके तीन बच्चों की देखरेख का काम संभाल लिया. बता दें की इस परिवार में तीन बच्चे हैं, चूँकि रोस्को कपल काम के सिलसिले में अक्सर बाहर रहते हैं इसलिए उन्हें अपने बच्चों की देखभाल के लिए किसी की जरुरत थी और इसी तरह ये काम कायरा को मिल गया था.

आपको बता दें की रोस्को परिवार के तीनों बच्चों में सबसे छोटी सोलह महीने की क्रिस्टीन है. बीते दिनों तबियत बिगड़ने की वजह से जब क्रिस्टीन को पास के अस्पताल में एडमिट करवाया गया तो डॉक्टर्स ने बताया की क्रिस्टीन की हालत बेहद गंभीर है और उसे लीवर से संबधित एक बीमारी है जिसका इलाज केवल यही है की उसके लीवर का जल्द से जल्द ट्रांसप्लांट किया जाए. गौरतलब है की इस छोटी बच्ची को उसके माता पिता का लीवर भी मैच नहीं कर रहा था, अंत में कायरा ने नन्हीं क्रिस्टीन को बचाने के लिए अपना लीवर देने का फैसला लिया. आपको जानकर हैरानी होगी की कायरा क्रिस्टीन को अभी महज कुछ 19 – 20 दिनों से ही जानती थी लेकिन इसके वाबजूद भी कायरा का उस बच्ची एक साथ काफी गहरा लगाव होगया था. सूत्रों की माने तो डॉक्टर्स ने क्रिस्टीन का लीवर ट्रांसप्लांट कर दिया है और इस प्रक्रिया में कायरा के साथ भी कुछ गंभीर स्थिति उत्पन्न होगयी थी लेकिन डॉक्टरों के काफी जोर आज्मेइश के बाद कायरा और क्रिस्टीन दोनों को बचा लिया गया है लेकिन फिलहाल कुछ और दिनों के लिए उन्हें अंडर ऑब्जरवेशन ही रखा जायेगा. कुछ दिनों के बाद दोनों को डिस्चार्ज किया जाएगा.