मच्छर के काटने से होने वाले इन कुछ खतरनाक बीमारियों के बारे में जरूर जान लें, इनसे बचकर रहना है आवश्यक

मच्छर काटने से होने वाले कुछ बीमारियों के बारे में तो आप जानते होंगे लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे खतरनाक बीमारियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो की विशेष रूप से मच्छर काटने से ही होता है और यदि आप वक़्त रहते सही इलाज ना करवाएं तो इससे आपकी जान भी जा सकती है. आज हम आपको मच्छर के काटने से होने वाले कुछ ऐसी बीमारियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनसे अगर बचाव ना किया जाये तो इंसान की मौत भी हो सकती है. जैसा की आप सभी जानते हैं की इनदिनों बरसात के मौसम में हर तरफ मच्छर की संख्या कुछ ज्यादा ही बढ़ जाती है इसलिए इनदिनों मच्छरों से बचकर रहना बहुत ही आवश्यक हो जाता है.

मच्छरों से होने वाली कुछ खतरनाक बीमारियाँ ये हैं जिनसे जरूर बचकर रहना चहिये वर्ना कुछ भी हो सकता है.

डेंगू

मच्छर से होने वाली एक आम बीमारी के रूप में लोग डेंगू को जानते हैं. बता दें की डेंगू के मच्छर दिन के समय काटते हैं इसलिए रात के साथ साथ दिन के समय भी आपको मच्छरों से सावधान रहने की जरुरत है. देंगुन मच्छरों से होने वाली एक ऐसी बीमारी है जिसका यदि सही समय पर रोकथाम नहीं किया जाए तो इससे आपकी जान भी जा सकती है. असल में इस बीमारी में ह्यूमन बॉडी में ब्लड प्लेटलेट्स काफी गिरने लगते हैं और इलाज ना होने पर मरीज की जान भी जा सकती है.

मलेरिया

 

मलेरिया मच्छरों के काटने से होने वाला सबसे आम बीमारी है, बता दें की मलेरिया असल में फीमेल अनाफेलिस मच्छर के काटने से होता है. मलेरिया होने पर इंसान के शारीर का तापमान काफी ज्यादा बढ़ जाता है और जल्द ये बुखार नीचे भी नहीं गिरता. बता दें की मलेरिया में सर्दी, बुखार और उल्टी आदि होना एक आम बात है. आपको बता दें की मलेरिया के लक्षण जल्द पता नहीं चल पाता है लेकिन यदि वक़्त रहते इसका इलाज ना करवाया जाएँ ये आपकी जान का खतरा भी बन सकता है.

येल्लो फीवर

येल्लो फीवर यानी की पीला बुखार ये रोग एक ख़ास प्रकार के एजीप्टयाई मच्छर के काटने से होता है. बता दें इस मच्छर के काटने से एक विशेष प्रकार का संक्रमण इन्सान की बॉडी में फ़ैल जाता है जो सीधा लीवर के ऊपर अटैक करता है. बता दें की इस बीमारी में पूरा शारीर पीला पड़ जाता है जैसे पीलिया में होता है. आपको बता दें की पीला बुखार मच्छर से काटने वाला सबसे खतरनाक बीमारी है और इसमें मृत्यु दर करीबन 50 प्रतिशत होता है.

जीका वायरस

बता दें की हाल ही में काफी ज्यादा संख्या में खासकरके बच्चों में फैलने वाला ये बीमारी भी इजिप्टयाई मच्छर से फैलता है. बता दें जीका वायरस खासकरके नवजात बच्चों में उनके माँ के द्वारा फैलता है. अगर किसी प्रेग्नेंट महिला को मलेरिया, चिकगुनिया या डेंगू आदि बीमारी होती है तो इससे उसके नवजात बच्चे में जीका वायरस फैलने के चांस काफी बढ़ जाते हैं. इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान विशेष रूप से प्रेग्नेंट महिलाओं को अपनी सेहत का ध्यान रखना चहिये और मच्छरों से बचकर रहना चहिये.